हिन्दु पाकिस्तान विवाद- जनता ने कहा, “किसी के बाप का हिन्दुस्तान थोड़ी है”

हिन्दु पाकिस्तान विवाद- जनता ने कहा, “किसी के बाप का हिन्दुस्तान थोड़ी है”

2009 से तिरुवनंतपुरम के सांसद और देश के बड़े राजनेताओं में गिने जाने वाले शशि थरूर ने 11 जुलाई को तिरुवनंतपुरम के ही एक कार्यक्रम दौरान एक निंदनीय भाषण दे डाला। दरअसल, कांग्रेस सांसद ने कहा कि- अगर 2019 में पूरे बहुमत के साथ भाजपा कि सरकार आती है तो हमारा संविधान, लोकतांत्रिक संविधान नही बचेगा क्योकि वह (भाजपा) इस संविधान के चितड़े कर करके एक नया संविधान लिखेंगे जिसमें अनुसूचित जनजाती के लिए कोई जगह नही होगी और हिन्दुस्तान को हिन्दू पाकिस्तान बना दिया जाएगा। जिसके बाद पश्चिम बंगाल के बैंकशैल कोर्ट में अधिवक्ता सुमित चौधरी ने उनके खिलाफ आईपीसी की धारा 153 और 295(ए) तहत मुकदमा दर्ज किया है जिसकी सुनवाई 14 अगस्त को होनी है। कई अंतराष्ट्रीय वाद-विवाद के मौकों पर भारत का मजबूत पक्ष रखने वाले शशि थरूर ने जब इस तरह का ब्यान दिया तो थरूर से सहानुभूति रखने वाले लोगो को यकीन ही नही हुआ कि शशि थरूर जैसे राजनेता भी राजनीति के लिए भारत के बारे में ऐसा कह सकते है। वैसे तो ये पहली बार नही है जब कांग्रेस पार्टी के राजनेताओं ने राजनीति के लिए सीमाऐं लांघी है- पूर्व स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री ने देश की सेना के बारे में कहा कि- सेना मासूम सिविल्यन को जान से मारती है। पूर्व पंचायती राज मंत्री मणिशंकर एय्यर ने पाकिस्तान जाकर कहा कि मोदी सरकार के बारे मे कहा कि- मोदी सरकार को गिर जाना चाहिए। पूर्व कैबिनेट मंत्री सैफूद्दीन सोज़ ने कहा था कि- कश्मीर को आज़ादी चाहिए।

आपको बता दें कि आम तौर पर पार्टियॉं अपने नेताओं के बयानों के बाद उनकी पक्षदारी करती है लेकिन कांग्रेस की पार्टी प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने अहमदाबाद कि एक रैली के दौरान कहा कि “उनका जो स्टैंड है हम उससे सहमत नही हैं क्योकि हमने साफ कर दिया है कि हमारा देश सर्व धर्म सम्मान करता है। पूरी दुनिया को अपना परिवार मानता है। हम हाथी से लेकर चींटी तक को पूजते है करीब 250 भगवानों को पूजते है (हालांकि, हिंदू धर्म में 33 करोड़ देवी-देवता होते है) इसलिए भारतवर्ष कभी एक सोच एक विचारधारा में सीमित नही हो पाएगा।”

शशि थरूर के इस हिंदू-पाकिस्तान बयान पर जन की बात टीम ने जन चौपाल कि और जाना देश कि राजधानी दिल्ली में लोगो कि राय को, क्या लगता है उन्हे? क्या थरूर का हिंदू-पाकिस्तान सही है? क्या भारतीय जनता पार्टी वाकई में ऐसा कर सकती है? क्या हिंदुस्तान को हिंदु-पाकिस्तान बना दिया जाएगा?
देखिए जन की बात टीम ये जन चौपाल और जानिए कि क्या सोचती है देश कि राजधानी कि जनता।