टीवी इतिहास में पहली बार किसी एग्जिट पोल ने वोट शेयर, सीट और कौन सा नेता जीतेगा या हारेगा सही बताया।

टीवी इतिहास में पहली बार किसी एग्जिट पोल ने वोट शेयर, सीट और कौन सा नेता जीतेगा या हारेगा सही बताया।

टीवी इतिहास में पहली बार किसी एग्जिट पोल ने वोट शेयर, सीट और कौन सा नेता जीतेगा या हारेगा सही बताया।

नितेश दूबे , जन की बात

जन की बात के फाउंडर एंड सीईओ प्रदीप भंडारी ने झारखंड चुनाव का एग्जिट पोल एकदम सटीक बताया। इसी के साथ जन की बात देश की इकलौती ऐसी सर्वे टीम बन गई जिसने वोट शेयर, सीट और कौन सा नेता किस सीट से जीतेगा या हारेगा यह सब भी सटीक बताया।
हालांकि जन की बात के लिए इलेक्शन प्रिडिक्शन सही करना कोई नई बात नहीं है। जन की बात की टीम ने झारखंड के पहले 14 चुनाव में एकदम सही आकलन करके अपना लोहा मनवाया है।

सीएम हारेंगे,सबसे पहले बताया जन की बात ने

जन की बात के फाउंडर एंड सीईओ प्रदीप भंडारी ने सबसे पहले बताया था कि झारखंड के सिटिंग चीफ मिनिस्टर रघुवर दास जमशेदपुर पूर्व सीट से खुद हार जाएंगे। यही नहीं जन की बात के फाउंडर प्रदीप भंडारी ने बताया था कि आजसू के अध्यक्ष सुदेश महतो दो बार चुनाव हारने के बाद इस बार चुनाव जीत जाएंगे। हेमंत सोरेन जो कि बरहेट और दुमका सीट से चुनाव लड़ रहे थे। मीडिया में तमाम एग्जिट पोल उनको दुमका से कड़े मुकाबले की बात कर रहे थे। लेकिन जन के बाद के फाउंडर प्रदीप भंडारी ने बताया कि दोनों सीट से हेमंत सोरेन आसानी से चुनाव जीत जाएंगे। प्रदीप भंडारी ने यह भी बताया कि बाबूलाल मरांडी बड़े अंतर से चुनाव जीतेंगे।

जन की बात का 15वां एग्जिट पोल सटीक साबित

जन की बात का एग्जिट पोल झारखंड को लेकरके लगातार 15वीं बार सही साबित हुआ है। इसके पहले कर्नाटक और त्रिपुरा में भी जन की बात ने किस पार्टी को कितनी सीटें मिलेगी यह भी बता दिया था। राजस्थान, गुजरात, 2019 के लोकसभा चुनाव में भी जन की बात का एग्जिट पोल बिल्कुल सही साबित हुआ था।